आईपीसी धारा 158 क्या है | IPC Section 158 in Hindi | IPC 158 In Hindi

  • by

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code की IPC Section 158 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC Dhara 158 Kya Hai की जानकारी दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो आपको IPC 158 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फसें नहीं और ने ही कोई आपको दलीलो मे फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 158 Kya Hai.

IPC Section 158 In Hindi

IPC Dhara 158 – गैरकानूनी सभा या दंगे में भाग लेने के लिए काम पर रखा जाना।
जो कोई भी धारा 141 में निर्दिष्ट किसी भी कार्य को करने या करने में सहायता करने के लिए नियुक्त किया गया है, या किराए पर लिया गया है, या किराए पर लेने या नियुक्त करने का प्रयास करता है या करने का प्रयास करता है, तो उसे किसी भी प्रकार के कारावास से दंडित किया जाएगा, जिसे छह महीने तक बढ़ाया जा सकता है, या जुर्माने के साथ, या दोनों के साथ, या सशस्त्र हो जाना।—और जो कोई, पूर्वोक्त के रूप में इस तरह से लगा हुआ या किराए पर लिया जा रहा है, सशस्त्र जाता है, या सशस्त्र होने की पेशकश करता है, किसी भी घातक हथियार के साथ या किसी भी चीज के साथ जो अपराध के हथियार के रूप में इस्तेमाल होता है मृत्यु का कारण बनने की संभावना है, तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास, जिसे दो वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या जुर्माने से, या दोनों से दंडित किया जाएगा।

ipc section

IPC Section 158 In English

IPC Section 158 – Being hired to take part in an unlawful assembly or riot.
Whoever is engaged, or hired, or offers or attempts to be hired or engaged, to do or assist in doing any of the acts specified in section 141, shall be punished with imprisonment of either de­scription for a term which may extend to six months, or with fine, or with both, or to go armed.—and whoever, being so engaged or hired as aforesaid, goes armed, or engages or offers to go armed, with any deadly weapon or with anything which used as a weapon of offence is likely to cause death, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to two years, or with fine, or with both.

IPC 153 IN HINDI
IPC 155 IN HINDI
IPC 156 IN HINDI
IPC 151 IN HINDI
IPC 152 IN HINDI

तो IPC Section 158 In Hindi तथा IPC 158 In Hindi की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने IPC Dhara 158 Kya Hota Hai इसकी पूरी जानकारी दैदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.