आईपीसी धारा 36 क्या है | IPC Section 36 in Hindi | IPC 36 In Hindi

  • by

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code की IPC Section 36 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC Dhara 36 Kya Hai की जानकारी दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो आपको IPC 36 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फसें नहीं और ने ही कोई आपको दलीलो मे फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 36 Kya Hai.

IPC Section 36 In Hindi

IPC Dhara 36 – प्रभाव आंशिक रूप से कार्य और आंशिक रूप से चूक के कारण होता है।
जहां कहीं एक निश्चित प्रभाव का कारण, या किसी कार्य या चूक से उस प्रभाव का कारण बनने का प्रयास एक अपराध है, यह समझा जाना चाहिए कि आंशिक रूप से किसी कार्य द्वारा और आंशिक रूप से चूक से उस प्रभाव का कारण है एक ही अपराध। दृष्टांत ए जानबूझकर जेड की मौत का कारण बनता है, आंशिक रूप से जेड भोजन देने के लिए अवैध रूप से छोड़ कर, और आंशिक रूप से जेड की पिटाई करके। ए ने हत्या की है।

ipc section

IPC Section 36 In English

IPC Section 36 – Effect caused partly by act and partly by omission.
Wherever the causing of a certain effect, or an attempt to cause that effect, by an act or by an omission, is an offence, it is to be understood that the causing of that effect partly by an act and partly by an omission is the same offence. Illustration A intentionally causes Z’s death, partly by illegally omitting to give Z food, and partly by beating Z. A has committed murder.

IPC 33 IN HINDI
IPC 34 IN HINDI
IPC 38 IN HINDI
IPC 37 IN HINDI
IPC 32 IN HINDI

तो IPC Section 36 In Hindi and IPC 36 In Hindi की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने IPC Dhara 36 Kya Hota Hai इसकी पूरी जानकारी दैदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.