INDIAN CONSTITUTION PART 3 ARTICLE
|

Article 13 In Hindi | Article 13 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 13 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Article 13 Of Indian Constitution In Hindi मे बताया गया है। अगर आपको Article 13 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 13 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको इसकी पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसने हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे Article 13 भी एक है, तो चलिए जानते है इसके बारे में।

Article 13 Of Indian Constitution In Hindi

अनुच्छेद 13– मौलिक अधिकारों के साथ असंगत या उनका अपमान करने वाले कानून
(१) इस संविधान के प्रारंभ से ठीक पहले भारत के राज्यक्षेत्र में लागू सभी कानून, जहां तक ​​वे इस भाग के प्रावधानों से असंगत हैं, ऐसी असंगति की सीमा तक शून्य होंगे।
(२) राज्य कोई कानून नहीं बनाएगा जो इस भाग द्वारा प्रदत्त अधिकारों को छीनता है या कम करता है और इस खंड के उल्लंघन में बनाया गया कोई भी कानून उल्लंघन की सीमा तक शून्य होगा।
(३) इस लेख में, जब तक कि संदर्भ के लिए अन्यथा कानून की आवश्यकता न हो, भारत के क्षेत्र में कानून के बल वाले किसी भी अध्यादेश, आदेश, उप-कानून, नियम, विनियम, अधिसूचना, प्रथा या प्रथाएं शामिल हैं; लागू कानूनों में इस संविधान के प्रारंभ से पहले भारत के क्षेत्र में विधायिका या अन्य सक्षम प्राधिकारी द्वारा पारित या बनाए गए कानून शामिल हैं और पहले निरस्त नहीं किए गए हैं, भले ही ऐसा कोई कानून या उसका कोई हिस्सा तब या तो बिल्कुल भी लागू न हो या विशेष क्षेत्र
(४) इस अनुच्छेद में कुछ भी अनुच्छेद ३६८ समानता के अधिकार के तहत किए गए इस संविधान के किसी भी संशोधन पर लागू नहीं होगा

INDIAN CONSTITUTION PART 3 ARTICLE

Article 13 In Hindi & English

Article 13- Laws inconsistent with or in derogation of the fundamental rights

Laws inconsistent with or in derogation of the fundamental rights
(1) All laws in force in the territory of India immediately before the commencement of this Constitution, in so far as they are inconsistent with the provisions of this Part, shall, to the extent of such inconsistency, be void
(2) The State shall not make any law which takes away or abridges the rights conferred by this Part and any law made in contravention of this clause shall, to the extent of the contravention, be void
(3) In this article, unless the context otherwise requires law includes any Ordinance, order, bye-law, rule, regulation, notification, custom or usages having in the territory of India the force of law; laws in force includes laws passed or made by Legislature or other competent authority in the territory of India before the commencement of this Constitution and not previously repealed, notwithstanding that any such law or any part thereof may not be then in operation either at all or in particular areas
(4) Nothing in this article shall apply to any amendment of this Constitution made under Article 368 Right of Equality

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।

Also See

Anuched 13 Kya Hai

अनुच्छेद 13 (अनुच्छेद 8 का मसौदा) पर 25, 26 और 29 नवंबर 1948 को संविधान सभा में बहस हुई थी। इसने घोषणा की कि भाग III के साथ असंगत कोई भी कानून शून्य होगा। मसौदा समिति के अध्यक्ष ने ‘कानून’ और ‘प्रवृत्त कानूनों’ की शर्तों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करने के लिए एक संशोधन पेश किया। एक सदस्य इस संशोधन की भाषा से ‘कस्टम या उपयोग’ शब्दों को हटाना चाहता था, यह तर्क देते हुए कि यह लोगों के बजाय राज्य को प्रथा बनाने की अनुमति देता है।

हालांकि सभापति ने स्पष्ट किया कि यह मामला नहीं था, उन्होंने व्याख्या में किसी भी संदेह को दूर करने के लिए एक दूसरा संशोधन पेश किया। संशोधन बिना बहस के स्वीकार कर लिया गया संशोधित मसौदा अनुच्छेद 29 नवंबर 1948 को अपनाया गया था।

Final Words

तो आपको Article 13 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। इसमे मैने Article 13 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है यानी कि Anuched 13 Kya Hai? अगर इससे संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *